NCERT Class 8 Hindi Vasant Bhag 3 Thirteenth Chapter Jahan Pahiya hai Exercise Question Solution

NCERT Class 8 Hindi Vasant Bhag 3 Thirteenth Chapter Jahan Pahiya hai Exercise Question Solution

जहाँ पहिया है

जंजीरें

(1) ” … उन जंजीरों को तोड़ने का जिनमें वे जकड़े हुए हैं, कोई – न – कोई तरीका लोग निकाल ही लेते हैं… “

आपके विचार से लेखक जंजीरोंद्वारा किन समस्याओं की ओर इशारा कर रहा है?

Ans :- लेखक जंजीरों द्वारा रूढ़िवादी प्रथाओं की ओर इशारा कर रहा है।

(2) क्या आप लेखक की इस बात से सहमत हैं? अपने उत्तर का कारण भी बताइए।

Ans :- “…उन जंजीरों को तोड़ने का जिनमें वे जकडे हुए हैं, कोई-न-कोई तरीका लोग निकाल ही लेते है.. लेखक के इस कथन से हम सहमत हैं क्योंकि मनुष्य स्वभावानुसार अधिक समय तक बंधनों में नहीं रह सकते। समाज द्वारा बनाई गई रूढ़ियाँ अपनी सीमाओं को लाँघने लगे तो समाज में इसके विरूद्ध एक क्रांति अवश्य जन्म लेती है। जो इन रूढ़ियों के बंधनों को तोड़ डालती है। ठीक वैसे ही तमिलनाडु के पुडुकोट्टई गाँव में हुआ है। महिलाओं ने अपनी स्वाधीनता व आज़ादी के लिए साइकिल चलाना आरंभ किया और वह आत्मनिर्भर हो गई।

पहिया

(1) ‘साइकिल आंदोलनसे पुडुकोट्टई की महिलाओं के जीवन में कौन-कौन से बदलाव आए हैं?

Ans :- ‘साइकिल आंदोलन’ से पुडुकोट्टई की महिलाओं के जीवन में निम्नलिखित बदलाव आए –

(1) महिलाएँ अपनी स्वाधीनता व आज़ादी के प्रति जागृत हुई।

(2) कृषि उत्पादों को समीपवर्ती गाँवों में बेचकर उनकी आर्थिक स्थिति सुधरी व आत्मनिर्भर हो गई।

(3)  समय और श्रम की बचत हुई।

(4) स्वयं के लिए आत्मसम्मान की भावना पैदा हुई।

(2) अपने मन से इस पाठ का कोई दूसरा शीर्षक सुझाइए। अपने दिए हुए शीर्षक के पक्ष में तर्क दीजिए।

समझने की बात

(1) ” लोगों के लिए यह समझना बड़ा कठिन है कि ग्रामीण औरतों के लिए यह कितनी बड़ी चीज़ है।  उनके लिए तो यह हवाई जहाज़ उड़ने जैसी बड़ी उपलब्धि है। “साइकिल चलाना ग्रामीण महिलाओं के लिए इतना महत्वपूर्ण क्यों है ? समूह बनाकर चर्चा कीजिए।

(2) ” पुडुकोट्टई पहुँचने से पहले मैंने इस विनम्र सवारी के बारे में इस तरह सोचा ही नहीं था। ”

साईकिल को विनम्र सवारी क्यों कहा गया है ?

साइकिल

(1) फातिमा ने कहा,”…मैं किराए पर साइकिल लेती हूँ ताकि मैं आज़ादी और खुशहाली का अनुभव कर सकूँ।साइकिल चलाने से फातिमा और पुडुकोट्टई की महिलाओं को आज़ादीका अनुभव क्यों होता होगा

Ans :- फातिमा के गाँव में पुरानी रूढ़िवादी परम्पराएँ थीं। वहाँ औरतों का साइकिल चलाना उचित नहीं माना जाता था। इन रुढियों के बंधनों को तोड़कर स्वयं को पुरुषों की बराबरी का दर्जा देकर फातिमा और पुडुकोट्टई की महिलाओं को ‘आज़ादी’ का अनुभव होता होगा।

कल्पना से

(1)  पुडुकोट्टई में कोई महिला अगर चुनाव लड़ती तो अपना पार्टी – चिन्ह क्या बनाती और क्यों?

(2) अगर दुनिया के सभी पहिए हड़ताल क्र दें तो क्या होगा?

(3) ” 1992 में अंतरास्ट्रीय महिला दिवस के बाद अब यह ज़िला कभी भी पहले जैसा नहीं हो सकता।” इस कथन का अभिप्राय स्पष्ट कीजिए।

(4) मान लीजिए आप एक संवाददाता हैं। आपको 8 मार्च 1992 के दिन पुडुकोट्टई में हुई घटना का समाचार तैयार करना है। पाठ में दी गई सूचनाओं और अपनी कल्पना के ा आधार पर एक समाचार तैयार कीजिए।

(5) अगले पृष्ट पर दी गयी ‘पिता के बाद ‘ कविता पढ़िए।  क्या कविता  फातिमा की बात में कोई संबंध हो सकता है ? अपने विचार लिखिए।

भाषा की बात

उपसर्गों  और प्रत्ययों के बारे में आप जान चुके हैं। इस पाठ में आए उपसर्गयुक्त शब्दों को छाँटिए। उनके मूल शब्द भी लिखिए। आपकी सहायता के लिए इस पाठ में प्रयुक्त कुछ उपसर्गऔर प्रत्ययइस प्रकार हैं अभि, प्र, अनु, परि, वि(उपसर्ग), इक, वाला, ता, ना।

Ans :-

उपसर्ग

अभि – अभिमान

प्र – प्रयत्न

अनु – अनुसरण

परि – परिपक्व

वि – विशेष

प्रत्यय

इक – धार्मिक (धर्म + इक)

वाला – किस्मतवाला (किस्मत + वाला)

ता – सजीवता (सजीव + ता)

ना – चढ़ना (चढ़ + ना)

नव – नव + साक्षर (नवसाक्षर)

गतिशील – गतिशील + ता (गतिशीलता)


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

13 − six =