NCERT Class 8 Hindi Vasant Bhag 3 Eighth Chapter यह सबसे कठीन समय नहीं Exercise Question Solution

NCERT Class 8 Hindi Vasant Bhag 3 Eighth Chapter Yeh Sabse Kathin Samay Nahi Exercise Question Solution

यह सबसे कठीन समय नहीं

पाठ से

(1) “यह कठिन समय नहीं है ?” यह बताने के लिए कविता में कौन – कौन से तर्क प्रस्तुत किए गए हैं ? स्पष्ट कीजिए।

Ans :- यह बताने के लिए कवि ने निम्नलिखित तर्क दिए हैं-

(i) अभी भी चिड़िया की चोंच में तिनका दबा है।

(ii) एक हाथ झड़ती हुई पत्ती को थामने के लिए बैठा है।

(iii) अभी भी एक रेलगाड़ी गंतव्य तक जाती है।

(iv) कथा का अखिरी हिस्सा बूढ़ी नानी सुना रही है जिसमें अभी भी एक बस अंतरिक्ष के पार की दुनिया से बचे हुए लोगों की खबर लाएगी।

(v) अभी भी कोई किसी को कहता है कि जल्दी आ जाओ, सूरज डूबने का समय हो चला है।

(2) चिड़िया चोंच में तिनका दबाकर उड़ने की तैयारी में क्यों हैं ? वह तिनकों का क्या करनी होगी ? लिखिए।

Ans :- सूरज डूबने ही वाला है और सूरज डूबने से पहले चिड़िया अपने लिए घोंसला बनाना चाहती है। इसलिए चिड़िया अपनी चोंच में तिनका दबाकर उड़ने की तैयारी में है।

(3) कविता में कई बार अभी भी का प्रयोग करके बातों रखी गई हैं , अभी भी का प्रयोग करने हुए तीन वाक्य बनाइए और देखिए उनमें लगातर , निरंतर , बिना रुके चलनेवाले किसी कार्य का भाव निकल रहा है या नहीं ?

Ans :- (i) अभी भी सूरज डूबने में समय है।

(ii) कक्षा खत्म होने में अभी भी बहुत समय बाकी है।

(iii) अभी भी मेरा काम खत्म नहीं हुआ है।

ऊपर दिए गए तीनों वाक्यों में कार्य के निरन्तर चलने वाली प्रक्रिया का भाव है।

(4) “नहीं” और “अभी भी ” को एक साथ प्रयोग करके तीन वाक्य लिखिए और देखिए नहीं ‘ ‘अभी भी के पीछे कौन – कौन से भाव छिपे हो सकते हैं ?

कविता से आगे

(1) घर के बड़े – बूढ़ों द्धारा बच्चों को सुनाई जानेवाली किसी ऐसी कथा की जानकारी प्राप्त कीजिए जिसके आखरी हिस्से में कठिन परिस्थितियों से जितने का संदेश हो।

(2) आप जब भी घर से स्कूल जाते हैं कोई आपकी प्रतीक्षा क्र रहा होता है। सूरज डूबने का समय भी आपको खेल के मैदान से घर लौट चलने की सुचना देता है कि घर में कोई आपकी प्रतीक्षा क्र रहा है – प्रतीक्षा करनेवाले व्यक्ति के विषय में क्या सोचते हैं ? अपने विचार लिखिए।

अनुमान और कल्पना

(1) अंतरिक्ष के पार की दुनिया से क्या सचमुच कोई बस आती है जिससे खतरों के बाद भी बचे हुए लोगों की खबर मिलती है? आपकी राय में यह झूठ है या सच ? यदि झूठ है तो कविता में ऐसा क्यों लिखा गया ? अनुमान लगाइए यदि सच लहता है तो किसी अंतरिक्ष संबंधी विज्ञान कथा के आधार पर कल्पना कीजिए कि वह बस कैसी होगी , वे बचे हुए लोग खतरों से क्यों घिर गए होंगे ? इस संदर्भ को लेकर कोई कथा बना सकें तो बनाइए।


Leave a Reply

Your email address will not be published.