NCERT Class 6 Hindi Fifteenth Chapter नौकर Exercise Question Solution

NCERT Class 6 Hindi Fifteenth Chapter Noukar Exercise Question Solution

नौकर

निबंध से

(1) आश्रम में कॉलेज के छात्रों से गांधी जी ने कौन-सा काम करवाया और क्यों?

Ans :- गांधी जी ने कॉलेज के छात्रों से गेहूँ बीनने का काम करवाया। कॉलेज के छात्रों को अंग्रेज़ी भाषा के अपने ज्ञान का बड़ा गर्व था। उन्हें लगा कि गांधी जी उन्हें कोई लिखने-पढ़ने का काम देंगे। गांधी जी ने उनके मन की बात ताड़ ली।

(2) आश्रम में गांधी जी कई ऐसे काम भी करते थे, जिन्हें आमतौर पर नौकर-चाकर करते हैं। पाठ से तीन अलग-अलग प्रसंग अपने शब्दों में लिखो जो इस बात का प्रमाण हो।

Ans :- (i) जिस समय वे वकालत करके हज़ारों रूपये कमाते थे, उस समय भी वे रोज़ सुबह स्वयं चक्की पर आटा पीसा करते थे।

(ii) आश्रमकेनियमकेअनुसारसभीलोगोंकोमिल-बाँटकरबरतनसाफ़करनापड़ताथा।एकदिनगांधीजीबड़े-बड़ेबरतनोंकोखुदसाफ़करनेलगे।

(iii) एक बार दक्षिण अफ्रीका में रहने वाले भारतीय छात्रों ने गांधी जी के लिए लंदन में एक शाकाहारी भोज का आयोजन किया और शाकाहारी भोजन तैयार करने के कार्य में जुट गए। बाद में देखा गया कि एक दुबला-पतला आदमी भी आकर भोजन बनाने के काम में लग गया। अंत में पता चला कि यही गांधी जी हैं।

(3) लंदन में भोज पर बुलाए जाने पर गांधी जी ने क्या किया?

Ans :- लंदन में भारतीय छात्रों द्वारा भोज पर बुलाए जाने पर गांधी जी स्वयं जल्दी पहुँचकर भोज की तैयारियों में उनकी मदद करने लगे। शाम को सभी को पता चला कि ये दुबला-पतला सा व्यक्ति और कोई नहीं स्वयं गांधी जी है, जो अतिथि थे।

(4) गांधी जी ने श्रीमती पोलक के बच्चे का दूध कैसे छुड़वाया?

Ans :- बच्चे को माँ का दूध पीना छुड़ाने के लिए गांधी जी ने बच्चे की ज़िम्मेदारी अपने हाथों में ले ली। वे बच्चे को माँ से दूर अपने बिस्तर पर सुलाते थे तथा रात को उसके लिए पानी अपने पास रखकर सोते थे। जब बच्चा रात को जगता था तो उसे पानी पिला कर सुला दिया जाता था। इस तरह एक पखवाड़े तक माँ से अलग सुलाने के बाद बच्चे ने माँ का दूध पीना छोड़ दिया।

(5) आश्रम में काम करने या करवाने का कौन-सा तरीका गांधी जी अपनाते थे? इसे पाठ पढ़कर लिखो।

Ans :- गांधी जी अपना काम स्वयं करना पंसद करते थे, वे आश्रम का कार्य भी करते थे तथा दूसरे से काम लेने में सख्ती भी बरतते थे। गांधी जी को काम करता देखकर बाकी लोगों को ऐसे ही बैठे रहना अच्छा नहीं लगता था तथा वे लज्जित होकर काम करने लग जाते थे। किसी के पूछने पर गांधी जी उन्हें काम करने से रोकते नहीं थे। गांधी जी आश्रम के लोगों से काम करवाने का तरीका जानते थे। काम करने के बाद उन्हें धन्यवाद भी देते थे।

अनुमान और कल्पना

(1) गांधी जी अपने साथियों की जरूरत के मुताबिक हर काम क्र देते थे , लेकिन उनका खुद का काम कोई और करे, ये उन्हें पसंद नहीं था।  क्यों ? सोचो और अपनी कक्षा में सुनाओ।

(2) ‘नौकरों को हमें वेतनभोगी मज़दूर नहीं , अपने भाई के समान मानना चाहिए।  इसमें कुछ कठिनाई को सकती है , फिर भी हमारी कोशिश सर्वथा निष्फल नहीं जाएगी। ‘ गांधी जी ऐसा क्यों कहते होंगे ? तर्क के साथ समझाओ।

(3) गांधी जी की कही – लिखी बातें लगभग सौ से अधिक किताबों में  दर्ज हैं। घर के काम , बीमारों की सेवा , आगंतुकों से बातचीत आदि ढेरों काम करने के बाद गांधी जी को लिखने का का समय कब मुलता होगा ? गांधी जी का एक दिन कैसे गुजरता होगा , इस पर अपनी कल्पना से लिखों।

(4) पाठ में बताया गया है कि गांधी जी और उनके साथी आश्रम किस तरह अलग था ? कुछ वाक्यों में लिखो।

(5) ऐसे कामों की सूची बनाओ जिन्हें तुम हर रोज खुद कर सकते हो।

भाषा की बात

(1) (क) पिसाईसंज्ञा है। पीसना शब्द से नानिकाल देने पर पीस धातु रह जाती है। पीस धातु में आईप्रत्यय जोड़ने पर पिसाईशब्द बनता है। किसी – किसी क्रिया में प्रत्यय जोड़कर उसे संझा बनाने के बाद उसके रूप मूल बदलाब आ जाता है , जैसे ढोना से ढुलाई , बोना से बुआई।

मूल शब्द के अंत में जुड़कर नया शब्द बनाने वाले शब्दांश को प्रत्यय कहते हैं।

नीचे कुछ संज्ञाएँ दी गई हैं। बनाओ ये किन क्रियाओं से बनी हैं ?

रोपाई …….  कटाई …….

सिंचाई …….. कताई …….

रँगाई …….

Ans :-

 संज्ञा   — क्रिया   प्रत्यय

सिंचाई ___  ‘सींच’___   ‘ई’

कताई _____‘कात’____‘ई’

कटाई ____ ‘काट’ ____ ‘ई’

रोपाई  ____ ‘रोप ’___   ‘ई’

रंगाई ____‘रंग’ ____    ‘ई’

(ख) हर काम-धंधे और हर क्षेत्र की अपनी अलग भाषा और शब्द-भंडार होता है। ऊपर लिखे शब्दों का संबंध दो अलग-अलग कामों से है। पहचानो कि वे क्षेत्र कौन-से हैं।

Ans :- (i) कृषि से सम्बंधित

(ii) कपड़े तैयार करने से सम्बंधित

(2) (क) तुमने कपड़ो को सिलने हुए देखा होगा। निचे इस काम से जुड़े कुछ शब्द दिए गए हैं। आस – पास के बड़ों से या दरजी से इन शब्दों के बारे में पूछो और इन शब्दों को कुछ वाक्यों में समझाओ।

तुरपाई , बखिया , कच्ची सिलाई , चोर सिलाई

Ans :- तुरपाई — चोर सिलाई — कुर्ते में तुरपाई करो।

बखिया — कच्ची सिलाई —अभी केवल बखिया लगा दो।

(ख) निचे लिखे गए शब्द पाठ से लिए गए हैं। इन्हें पाठ में खोजकर बताओ की ये स्त्रीलिंग हैं या पुल्लिंग।

कालिख, भराईचक्की, रोशनी   

जेल,सेवा, पतीला

Ans :- कालिख – स्त्रीलिंग

जेल – स्त्रीलिंग

भराई – स्त्रीलिंग

सेवा – स्त्रीलिंग

चक्की – स्त्रीलिंग

पतीला – पुल्लिंग

रोशनी – स्त्रीलिंग


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *